Sports Jharkhand
नाममाइकल किंडो
निक नेम
जन्म28-06-1946
जन्म स्थानबधिमा, कुरडेग, सिमडेगा
लिंगMale
पितापास्कल किंडो
मातापैट्रिशिया
पत्नी
संतानएक पुत्र, दो पु़त्री
पेशानौसेना : 1962-1974 रेलवे , 1974-1977, सेल ;1977.2004
प्लेइंग पोजिशनडिफेंडर
टीमनौसेना, सेना, भारत
अकादमी
कोच
खेल उपलब्धियां1971 बार्सिलोना विश्व कप कांस्य 1972 म्यूनिख ओलंपिक कांस्य 1973 एम्सटर्डम विश्व कप रजत 1974 तेहरान एशियाड 1975 क्वालालंपुर विश्व कप स्वर्ण
विदेश दौरा स्पेन, जर्मनी, ईरान, मलेशिया, पाकिस्तान, हाॅलैंड
अंतरराष्ट्रीय कैरियर1971-1976
पुरस्कार
नेतृत्व
खेल प्रशासन
शिक्षा
झारखंड के सर्वकालीन महान हाॅकी खिलाड़ियों में से एक माइकल किंडो जिस प्राथमिक स्कूल के छात्र थे, वहां का अनिवार्य नियम है हाॅकी स्टिक के साथ स्कूल पहुंचना। बचपन से ही हाॅकी के प्रति दिवानगी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदकों की गवाह बनीं। हाॅकी के प्रति दिवानगी का आलम यह था कि 1976 ओलंपिक के प्रशिक्षण शिविर में पैर टूट जाने के कारण अंतरराष्ट्रीय कैरियर पर तो विराम लग गया लेकिन रेलवे और ओड़िसा के लिए अगले चार वर्षों तक खेले। किंडो ने राउरकेला को हाॅकी की नर्सरी बनाने में प्रमुख योगदान दिया।