जल्द पूरी होगी वर्षों पुरानी मुराद, बरियातू गर्ल्स स्कूल में एस्ट्रो टर्फ लगाने का काम शुरू

2019-06-14

sportsjharkhand.com टीम

रांची


झारखंड में महिला हॉकी के गौरवमयी इतिहास की सबसे पुरानी व यशस्वी साक्षी व झारखंड हॉकी की नर्सरी गवर्नमेंट गर्ल्स हाई स्कूल बरियातू में शुक्रवार से एस्ट्रो टर्फ बिछाने का काम शुरू हो गया। चट मैदान (बालू-मिट्टी का मैदान) पर वर्षों से अभ्यास करनेवाली महिला खिलाड़ियों को एक-डेढ़ किलोमीटर का सफर तय कर मोरहाबादी जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। सावित्री पूर्ति से लेकर निक्की प्रधान तक 60 से ज्यादा अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों को हॉकी की बारीकियां सिखानेवाली इस नर्सरी  के पास अगले दस दिनों में अपना एस्ट्रो टर्फ होगा, जिसपर अभ्यास की किसी तरह की कोई पाबंदी नहीं होगी। अभी SAI के खिलाड़ियों के साथ शेयर करना पड़ता है। स्टेडियम तैयार होने के बाद महिला खिलाड़ियों की अपना एस्ट्रो टर्फ का वर्षों पुरानी मुराद पूरी हो जाएगी।

रांची का तीसरा एस्ट्रो टर्फ होगा

90 के दशक में मोरहाबादी में बने एस्ट्रो टर्फ और 2015-16 में रेलवे द्वारा हटिया में बनाये गए एस्ट्रो टर्फ के बाद रांची जिले में ये तीसरा एस्ट्रो टर्फ होगा।


लगभग नौ माह से चल रहा है काम

स्टेडियम में एस्ट्रो टर्फ बिछाने से पहले की आधारभूत संरचना तैयार करने का काम पिछले लगभग 9 माह से चल रहा है। अब शुक्रवार से एस्ट्रो टर्फ बिछाया जा रहा है, जिसे आनेवाले 10 दिनों के अंदर पूरी तरह कंप्लीट कर लिया जाएगा। खेल विभाग के पास अपनी इंजीनियरिंग विंग नही है इसलिए निर्माण कार्य NREP 2 के जरिये कराया जा रहा है।



10 दिनों के अंदर एस्ट्रो टर्फ बिछाने का काम सम्पन्न हो जाएगा। उसके बाद बहुत जल्द ही हम स्टेडियम को हैंडओवर करने की स्थिति में होंगे।

उमेश श्रीवास्तव, अभियंता, NREP 2, रांची