Sports Jharkhand
अपनों पे सितम, गैरों पे करम : महिला दिवस पर शुभलक्ष्मी शर्मा को ठेंगा, डायना एडुलजी का स्वागत
2019-03-08  10:15:29

sportsjharkhand.com टीम

रांची

गुरुवार की शाम JSCA ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर महिला दिवस पर भारत व ऑस्ट्रेलिया के बीच होनेवाले वनडे इंटरनेशनल मैच के दौरान पूर्व भारतीय महिला टीम की कप्तान व सर्वोच्च न्यायालय द्वारा COA की नियुक्त सदस्या डायना एडुलजी की मौजूदगी की जानकारी सार्वजनिक की। बहुत की खुशी की बात है कि महिला दिवस पर महिलाओं का सम्मान हो रहा है लेकिन ये सम्मान अपने राज्य की महिला अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों के अपमान के साथ हो रहा है, जिसे सही नहीं ठहराया जा सकता है। बिहार और झारखंड की पहली महिला अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी हज़ारीबाग निवासी शुभलक्ष्मी शर्मा को एक अदद पास योग्य नहीं समझनेवाला JSCA आज महिलाओं के सम्मान में खड़ा है। इस दोहरे चरित्र को समझ पाना ज्यादा कठिन नहीं है। डायना एडुलजी COA की तीन सदस्यों में से एक हैं, इसलिए भविष्य को ध्यान में रखते हुए उनका सम्मान ज्यादा जरूरी है। शुभलक्ष्मी तो घर की बेटी है। महिला दिवस पर राज्य की महिलाओं के साथ दोयम दर्जे के इस व्यवहार को किसी भी तर्क-कुतर्क से सही नहीं जा सकता।



पूर्व क्रिकेटरों को भी भूला JSCA

JSCA (पूर्व में BCA 1934) ने जमकर पास बांटे। नेता, अधिकारी, पत्रकार, चाटुकार, JSCA के वोटर सभी को पास मिले लेकिन जिन खिलाड़ियों ने BCA/JSCA के लिए सालों मैदान में पसीना बहाया, उन्हें पूछनेवाला कोई नहीं। फेहरिस्त लंबी है लेकिन नाम सिर्फ दो ही लेता हूँ, प्रदीप खन्ना और आदिल हुसैन। दो नाम जिनसे झारखंड का हर क्रिकेटर वाकिफ है। दोनों से sportsjharkhand.com ने जब इस संदर्भ में पूछा तो दोनों जवाब टाल गए। ध्यान देनेवाली बात ये है कि आदिल हुसैन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हुए टेस्ट मैच के दौरान टीम ऑस्ट्रेलिया के ड्रेसिंग रूम इंचार्ज की भूमिका निभाई थी। हाल ही में पवेलियन का नाम खिलाड़ी की बजाय पदाधिकारी के नाम करने पर उनका कड़ा बयान JSCA के पदाधिकारियों को नहीं भाया। प्रदीप खन्ना अपनी साफगोई को लेकर पहले से ही कुख्यात रहे हैं। जीहुजूरी के इस दौर में ये गुण अयोग्यताओं की श्रेणी में आते हैं। दोनों पहले JSCA के आजीवन सदस्य भी थे, अमिताभ चौधरी की अध्यक्षता के दौरान ही दोनों को बाहर निकाल दिया गया।