Sports Jharkhand
रामगढ़ के क्रिकेटरों ने JSCA से लगाई गुहार, बाहरी खिलाड़ियों को प्रश्रय देनेवाले जिला सचिव को बाहर करने की मांग
2019-02-28  18:48:10

sportsjharkhand.com 

रांची


झारखंड में स्थानीय की जगह बाहरी क्रिकेटरों को खिलाए जाने को लेकर रामगढ़ के खिलाड़ी  खुलकर सामने आए हैं। रामगढ़ के खिलाड़ियों ने झारखंड राज्य क्रिकेट संघ (JSCA) के सचिव को पत्र लिखकर इस वर्ष सीनियर व U 19 टीम में खिलाए गए बाहरी खिलाड़ियों के नाम के साथ अपना विरोध जताया है। आरोप है कि इसमें से ज्यादातर खिलाड़ी इसी साल पहली बार रामगढ़ की टीम में शामिल किए गए थे। सीनियर जिला टीम के कैम्प में 22 खिलाड़ी बुलाये गए थे, जिसमें 5 खिलाड़ी स्कन्द अहलूवालिया, उदित गर्ग, सागर शर्मा, आयुष डिसूजा (सभी दिल्ली के) और कोलकाता के सौरभ तिवारी शामिल थे। बाहरी खिलाड़ियों को देखते ही स्थानीय खिलाड़ियों ने विरोध का झंडा बुलंद किया तो उन्हें सचिव अरुण कुमार राय ने टीम से ही बाहर कर दिया।


आधार कार्ड दिल्ली का, खेल रहे रामगढ़ से


हाल ही में स्टिंग ऑपरेशन में दो-दो जिला सचिव फ़र्ज़ी दस्तावेज़ बनवाने और खेलाने का रेट तय करते हुए पाए जाने के बाद रुखसत कर दिए गए हैं। लेकिन रामगढ़ के सचिव स्टिंग ऑपरेशन की जद में आनेवाले सचिवों से दो कदम आगे हैं, उन्होंने दिल्ली के पते पर ही खिलाड़ियों को टीम में जगह दे दी। 5 बाहरी खिलाड़ियों के आधार कार्ड (देखें) बता रहे हैं कि सभी का पता दिल्ली-कोलकाता का है। लेकिन JSCA के सइयां भये कोतवाल तो रामगढ़ में डर काहे का। वैसे आपको बता दें कि JSCA के सईयां के दो खासमखास कारिंदों ने रामगढ़ में कई एकड़ जमीन खरीदी है। बताया जाता है कि जमीन दिलवाने के एवज में ही सचिव के पद से उपकृत किया  गया है।


मैंने बाहरी खिलाड़ियों का विरोध किया तो मुझे ही निकाल दिया : आदर्श मलिक

2012 से U 19 व सीनियर टीम का हिस्सा रहे क्रिकेटर आदर्श मलिक ने बताया कि जैसे ही मैंने बाहरी खिलाड़ियों को टीम का हिस्सा बनाये जाने पर विरोध किया तो मुझे ही टीम से बाहर कर दिया गया। मुझे टीम से बाहर करने से समस्या का समाधान नहीं हो सकता। हमने आंदोलन का बिगुल फूंका है और ज्यादातर स्थानीय खिलाड़ियों का समर्थन हमें प्राप्त है इसलिए ही हम सबने JSCA को आवेदन देकर सचिव अरुण कुमार राय को हटाने की गुहार लगाई है। आंदोलन जारी रहेगा।